• July 13, 2020

मांडू में पर्यटक शनिवार और रविवार काे भगाेरिया का उठा सकेंगे लुत्फ

स्मारकाें के अनलॉक होते ही मांडू में पर्यटकाें काे प्रसिद्ध आदिवासी नृत्य भगोरिया देखने काे मिलेगा। इसके लिए जिला प्रशासन ने पहल की है। प्रति शनिवार और रविवार काे इसका आयाेजन हाेगा। कलेक्टर ने विगत दिवस मांडू में पर्यटन से इस कला को जोड़ने की बात कही थी। फाॅसिल्स पार्क में इसके लिए मंच तैयार है, स्मारकाें के आसपास जगह चिह्नित की जा रही है।
मांडू के आबापुरा, मालीपुरा और सागर की तीन टीमें नगर के बड़े कार्यक्रम में पहली प्रस्तुति देती हैं। लाॅकडाउन के चलते काेई मंच नहीं मिलने से आर्ट ऑनक्लिक फेसबुक पेज एवं मांडू लोक कला सांस्कृतिक समिति ने मिलकर जिले के लोक कलाकारों के लिए सोनगढ़ की पहाड़ियों पर 26 जून से पांच दिनी कार्यक्रम भी आयोजित किया। कृष्णा मालीवाड़ ग्रुप द्वारा भगोरिया नृत्य, जगदीश बोरियाला धार द्वारा कबीर भजन, नंदराम बारिया द्वारा नशा मुक्ति पर लोक गीत, बुदिराम डामोर धुलेट द्वारा मालवा के लोक गीत व कालू भाबर द्वारा फाग गीत की प्रस्तुति दे रहे हैं। वरिष्ठ रंगकर्मी नीरज कुंदेर, शिवा कुंदेर के निर्देशन में अायाेजन चल रहा। नृत्य दल के प्रमुख मालीवाड़ ने बताया भगोरिया को हम नया स्वरूप देने के प्रयास कर रहे हैं। कला को फेसबुक व यू ट्यूब के माध्यम से शुरू की है।

जिला पंचायत देगी फंड
डायनासोर फॉसिल्स पार्क में हमने नृत्य दल के लिए एक मंच मनाया है। नृत्य दल काे कुछ पैसा जिपं अाैर कुछ पैसा पर्यटक देंगे। स्मारक परिसराें में भी अायाेजन के लिए जगह चयनित की जा रही है।
-संतोष वर्मा, सीईओ, जिला पंचायत

नृत्य से पर्यटकाें काे मनाेरंजन से जाेड़ेंगे
जिले में आदिवासी लोक संस्कृति के कई दल हैं। इस कला को जीवित रखने के लिए प्रयास कर रहे हैं। मांडू आने वाले पर्यटकों को मनोरंजन से जाेड़ने के लिए प्रति शनिवार व रविवार काे प्रस्तुति हाेगी।
-आलोक कुमार सिंह, कलेक्टर

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today

Please follow and like us:

Related post

Coronavirus Live Update

COVID-19