Categories
Health

Foods to Remove Laziness

Burger, Fries and other fast foods might be feels good while eating it but these foods have very low nutrition value. Some packaged foods, candy, packed meals, and precooked meats are full of preservatives, trans fat, and artificial ingredients. All these foods may slow you down.

Eat Whole Grains,Vegetables & Fruits

Whole grain foods ensures that your body gets the full benefits of the grain that adds lots of fiber to your diet. Eating vegetables will gives you lots of nutrition. According to the season you can eat seasonal fruits which gives you lots of vitamins, nutrition and energy.

Apart from this you can also eat protein. Chicken and Fish provides quality protein. Fish high in omega-3 fatty acids, like tuna, can add beneficial healthy fats.

Water is essential for functioning of the body. Water helps facilitate the energetic processes in the body. Drink on water throughout the day. This change can make a big difference, and you will feel better.

Categories
Health

Reasons for not losing weight when you’re on a diet

Eating little – say, 800-1500 calories a day can prevent you from losing weight, too.

“When we don’t eat enough, our body is starving and it’s not going to lose any weight” because it needs energy stores to keep you alive.

Seriously restricting your intake can also make you too tired to keep up physical activity.

Eating all of your calories at one big meal “really slows your metabolism down,” stopping weight loss.

If that meal is late, it can be especially problematic because you’re likely famished and eager to reach for processed choices rather than something more balanced.

Research shows that eating largest meal in the morning session, however, is associated with more weight loss.

Categories
Health

Foods to Eat for Weight Gain

  1. Oats
    We have a misconceptions that oats helps you lose weight. This came round as many experts suggested that oats is a good food for people suffering from lifestyle diseases.
    Oats is not having low calories. It is a whole grain that has around 150 calories in 1 cup. Oats has many other nutrients, like good dietary fiber and antioxidants. Oats also contain beneficial nutrients like fiber and healthy antioxidants along with phosphorous, manganese, magnesium and thiamine.
    Oats is low in saturated fats, making it a good food for good health. Going with oats ensures that you gets all these benefits.
  2. Banana & Banana Powder
    Bananas are similar to vegetables like potatoes. It has more carbohydrates and calories than other fruits, making them a great pick to gain weight. One cup of cooked plantains contain around 180-200 calories.
    It has good nutritional profile. Bananas are an excellent source of potassium, with 500-600 mg in one cup. It has good amounts of Vitamins A and C, making them a good immunity-boosting food. Bananas can be prepared for consumption in a powdered mix.
Categories
Ayurveda Health

कब्ज – इलाज और परहेज (Home Remedies for Constipation)

कब्ज (Constipation) एक समस्या है जिसके कारण पेट ठीक से साफ नहीं होता और काफी दिक्कतें आती हैं । इस कारण कई बार शौच के लिए जाना पड़ता है। पेट साफ ना होने के कारण पूरे दिन आलस्य बना रहता है। काम में मन नहीं लगता। कब्ज की परेशानी के कारण ज्यादा जोर लगाना पड़ता है, घण्टों बैठे रहना पड़ता है। व्यक्ति को बहुत सोच-समझकर खाना पड़ता है। क्या आप भी कब्ज से परेशान हैं, और घरेलू उपचार चाहते हैं?

कब्ज क्या है? (What is Constipation)

शरीर का संतुलन वात, पित्त, कफ दोषों पर निर्भर करता है। इनमें हुए असंतुलन के कारण शरीर रोगों से घिर जाता है। खान-पान एवं जीवनशैली में लापरवाही के कारण आहार सही समय पर ठीक प्रकार से नहीं पचता। इससे शरीर के दोष असंतुलित तथा दूषित होकर रोग उत्पन्न करते हैं। कब्ज में मुख्यतः वात दोष की दुष्टि होती है, जिस कारण मल सूखा एवं कठोर हो जाता है।

कब्ज होने के कारण (Constipation Causes in Hindi)

कब्ज की बीमारी होने के कई कारण होते हैं :-

  • भोजन में रेशेदार आहार की कमी होना।
  • मैदे से बने हुए भोजन का सेवन करना।
  • तले हुए मिर्च-मसालेदार भोजन का सेवन करना
  • पानी कम पीना
  • तरल पदार्थों का सेवन कम करना।
  • समय पर भोजन ना करना।
  • रात में देर से भोजन करना।
  • देर रात तक जागने की आदत।
  • अधिक मात्रा में चाय, कॉफी, तंबाकू आदि का सेवन करना।
  • भोजन पचे बिना ही दोबारा भोजन करना।
  • तनावयुक्त जीवन जीना।
  • हार्मोन्स का असंतुलन
  • थायराइड की परेशानी होना।
  • लम्बे तक दर्द निवारक दवाइयों का इस्तेमाल करना।

कब्ज के लक्षण (Constipation Symptoms)

कब्ज की पहचान ये हैः-

  • कुंथन करने पर ही मलत्याग होना।
  • पेट में दर्द रहना।
  • पेट में गैस बनना।
  • मल का सख्त होना।
  • सिर में दर्द रहना।
  • बदहजमी
  • बिना श्रम के ही आलस्य बने रहना।
  • पिण्डिलियों में दर्द रहना।
  • मुंह से दुर्गन्ध आना।
  • कब्ज के कारण मुँह में छाले होना।
  • त्वचा में मुँहासे होना।

मुनक्के के सेवन से कब्ज का घरेलू इलाज (Raisin: Home Remedies to Treat Constipation)

लगभग 5-8 ग्राम मुनक्के रात को पानी में भिगा दें। सुबह इसके बीज निकालकर दूध में उबाल कर खाएं, और दूध पी लें।

एरण्ड के तेल से कब्ज का घरेलू इलाज (Castor oil: Home Remedy for Constipation)

सोते समय एक गिलास गर्म दूध में 1 चम्मच एरण्ड का तेल डालकर पिएं। कब्ज दूर करने का यह घरेलू इलाज बहुत ही उपयोगी है।

कब्ज की परेशानी में बेल से फायदा (Bael: Home Remedies for Constipation Treatment)

बेल का फल कब्ज की समस्या के लिए फायदेमंद होता है। आधा कप बेल का गूदा, और एक चम्मच गुड़ का सेवन, शाम को भोजन से पहले से करें। बेल का शरबत भी कब्ज में फायदा करता है।

जीरा और अजवायन से कब्ज का इलाज (Jeera and Ajwain: Home Remedies to Treat Constipation)

जीरे और अजवायन को धीमी आंच पर भून कर पीस लें। इसमें काला नमक डालकर तीनों को समान मात्रा में मिला कर डब्बे में रख लें। रोज आधा चम्मच की मात्रा में गुनगुने पानी के साथ पिएं। यह कब्ज दूर करने का कारगर घरेलू इलाज है। 

कब्ज की बीमारी में मुलेठी से लाभ (Mulethi: Home Remedy for Constipation Disease)

एक गिलास पानी में एक चम्मच मुलेठी का चूर्ण और एक चम्मच गुड़ मिलाकर सेवन करें। यह कब्ज की समस्या को ठीक करने में मदद करता है।

सौंफ से करें कब्ज का इलाज (Saunf: Home Remedies for Constipation Problem)

रात में सोने से पहले एक चम्मच भुनी हुई सौंफ गरम पानी के साथ पिएं। सौंफ में पाए जाने वाले उड़नशील तेल पाचन क्रिया को दुरुस्त करते हैं, तथा गैस्ट्रिक एंजाइम के उत्पादन को बढ़ाते हैं।

चने का प्रयोग कब्ज में लाभदायक (Gram: Home Remedies to Treatment Constipation)

  • कब्ज की समस्या में चना बहुत ही लाभदायक होता है।
  • इसे भिगोकर या उबालकर खाना चाहिए।
  • चने में जीरा या सोंठ को पीसकर डालें और सेवन करें।
  • पके हुए केले को दूध के साथ खाएं।
Categories
Ayurveda Health

आँखों की देखभाल | घरेलू उपाय और खान पान

हमारे शरीर का महत्वपूर्ण हिस्सा है आँखें, लेकिन अगर आँखें एक पल के लिए भी हमसे अलग हो जाये तो ज़िन्दगी में अन्धेरा छा जायेगा। मोबाइल, टीवी और लैपटॉप के इस्तेमाल से आँखे कमजोर होने लगती है।

आँखों का व्यायाम
आँखों को एक बार ऊपर की ओर देखें एक बार नीचे की ओर देखें। एक बार दाएं तरफ और एक बार बाएं तरफ देखें। आँखों को गोलाई में घुमाएं, पहले एक दिशा और फिर दूसरी दिशा में घुमाए। इससे आँखों का व्यायाम हो जाएगा।

हरी सब्जियां व फल
आंखों के लिए विटामिन ए महत्वपूर्ण होता है, इसकी कमी से नाइट ब्लांइडनेस की शिकायत होती है। विटामिन ए की जरूरत सबसे अधिक रेटीना को होती है। हरी सब्जियों में विटामिन ए सबसे अधिक होता है। हरी सब्जियों में मौजूद केरोटिन तत्व विटामिन ए में बदल जाता है। इसलिए पालक, पुदीना, मेथी, बथुआ का सेवन करें। विटामिन सी के सेवन से आंखों की रोशनी बढती है। अमरूद, संतरे, अनानास, तरबूज और अंगूर में विटामिन ए और सी मौजूद होता है।

जिंक फूड
जिंक आंखों के लिए बहुत अच्छा होता है। जिंक, विटामिन ए के लिए रेटिना की मदद करता है। बिना जिंक के आंखों को जरूरत के अनुसार विटामिन नहीं मिला, तो परिणामस्वरूप आपकी नजरें कमजोर होने लगती है। मुंगफली, दही, डार्क चॉकलेट, तिल व कोको पाउडर आदि में जिंक भरपूर मात्रा में पाया जाता है। देखने की क्षमता उम्र भर एक सी बनी रहे। इसके लिए प्याज व लहसुन को अपने खाने में शामिल करना चाहिए। यदि किसी व्यक्ति को मोतियाबिंद की समस्या हो तो उसे सेलेनियम से भरपूर चीजों का सेवन करना चाहिए।

अंडा व मछली
आंखों के लिए अंडा लाभदायक होता है। कैरोटिनायड्स का निर्माण करने वाले ल्यूटिन व जीजेंथिन नामक तत्व अंडे में प्रचुरता में पाए जाते हैं। रोज एक अंडा खाने से केरोटिनाइड्स की कमी के कारण आंखों के सेल्स में होने वाला क्षरण रोका जा सकता है।आंखों के लिए अंडा लाभदायक होता है। रोज अंडा खाने से केरोटिनाइड्स की कमी के कारण आंखों के सेल्स में होने वाला क्षरण रोका जा सकता है। मछली में ओमेगा 3 भरपूर मात्रा में पाया जाता है जो आंखों के लिए लाभदायक होता है।

Categories
Ayurveda Health

ऐलोवेरा के फायदे – 2

  • एलोवेरा को रक्त शोधन, पाचन क्रिया के लिए काफी गुणकारी भी माना जाता है।
  • यह इसलिए भी फायदेमंद है, क्योंकि यह केवल एक पक्ष की अवधि के दौरान ही अपना असर दिखाने में सक्षम है।
  • नियमित रूप से एलोवेरा जूस को पीने से शरीर में नयी ऊर्जा का संचार होता है।
  • एलोवेरा जूस के सेवन से त्वचा में निखार आता है।
  • इसके सेवन से आपकी त्वचा लंबे समय तक जवां लगती है।
  • इसको पीने से या बालों में लगाने से चमक आती है, रूसी दूर हो जाती है और टेक्सचर भी अच्छा हो जाता है।
  • एलोवेरा में बैक्टीरिया और फंगस से लड़ने की क्षमता होती है। ये डैंड्रफ दूर करने में काफी उपयोगी है।
  • इसके एंटी फंगल गुणों के कारण यह त्वचा पर फंगल इन्फेक्शन जल्दी ठीक भी कर देता है।
  • एलोवेरा का कोई भी अतिरिक्त प्रभाव नहीं होता। शरीर में रक्त कोशिकाओं की संख्या बढ़ाकर खून की कमी को पूरा करता है।
  • इसका नियमित उपयोग करके लंबी उम्र तक स्वस्थ रहा जा सकता है।
  • एलोवेरा जूस के नियमित इस्तेमाल से वजन बड़ी आसानी से घट जाता है।
  • आप घरेलू फेसवास बना कर भी इसका उपयोग कर सकते हैं।
  • एलोवेरा के रस में हल्दी मिलाकर सिर में लगाने से सिर दर्द में आराम पहुँचता है।
  • एलोवेरा का जूस पीने से पीलिया में भी फायदा पहुँचता है।
  • गर्भावस्था के दौरान पेट पर आने वाले स्ट्रेच मार्क्स दूर करने में एलोवेरा लाभकारी है।
  • एलोवेरा में मौजूद एंजाइम ढीली पड़ चुकी त्वचा को हटाकर नयी त्वचा को नमी से युक्त रखते है।
  • आंवला और जामुन के साथ एलोवेरा का उपयोग करने से ये आंखों का भी बचाव करता है और साथ ही साथ बालों को मजबूती मिलती है।
  • शेव करने के बाद अगर चेहरा कट जाता है, तो ऐसे में एलोवेरा का जेल ऑफ्टर शेव की तरह भी काम करता है।
  • इसका एक सनस्क्रीन की तरह इस्तेमाल हो सकता है।
  • इसके एंटी ऑक्सीडेंट नमी को बनाए रखने में मदद करते हैं।
  • इसका इस्तेमाल मोइश्चराइजर के निर्माण में किया जाता है।
Categories
Ayurveda Health

ऐलोवेरा के फायदे

हर व्यक्ति एलोवेरा के फायदे के बारे में जानता है। ये औषीय पौधा है जिसके कई फायदे हैं। हम जिन फायदों के बारे में आज आपको बताएँगे उनके बारे में कम लोगों को ही मालूम होगा। आयुर्वेद में इसे संजीवनी पोधा भी कहा जाता है। पूरे विश्व में इसकी 400 से ज्यादा प्रजातियां पाई जाती हैं। इनमें से सिर्फ 4 प्रजातियां हीं हमें लाभ पहुंचाने में कारगर होती हैं।

एलोवेरा के फायदे :

  • इसका प्रयोग पौष्टिक आहार के रूप में होता है।
  • एक छोटे प्याले के सेवन से दिन-भर शरीर में ताकत बनी रहती है।
  • यह बवासीर रोग में आराम पहुँचाती है।
  • मधुमेह के रोगियों के लिए फ़ायदेमंद है।
  • गर्भाशय के रोगों में यह चमत्कारी है।
  • पेट से संबन्धित समस्याओं में में भी फायदेमंद है।
  • जोड़ों के दर्द में आराम पहुँचा देता है।
  • त्वचा की समस्याएँ जैसे मुंहासे, रूखी त्वचा, झुर्रियों, चेहरे के दाग, आंखों के काले घेरों, फटी एड़ियों के लिए यह लाभप्रद है।
  • यह खून की कमी को दूर करता है
  • शरीर की रोग-प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है।
  • जलने, कटने पर, अंदरूनी चोटों पर एलोवेरा अपने एंटी बैक्टेरिया और एंटी फंगल गुण के कारण घाव को जल्दी भरता है।
  • यह रक्त में शुगर लेवेल को नियंत्रित रखता है।
  • यह मच्छर से त्वचा को सुरक्षित रखता है, इसमें प्राकृतिक रूप से मॉस्किटो रिपेलेंट गुण मौजूद होते हैं।
  • एलोवेरा का इस्तेमाल जैल, बॉडी लोशन, हेयर जैल, स्किन जैल, शैंपू, साबुन, फेशियल फोम, हेयर स्पा इत्यादि के निर्माण में भी किया जाता है।
  • एलोवेरा जेल या रस में मेहंदी में मिलाकर बालों में लगाने से बाल चमकदार व स्वस्थ होंगे।
  • एलोवेरा के रस में नारियल के तेल की थोड़ी सी मात्रा मिलाकर कोहनी, घुटने व एड़ियों पर लगाकर धोने से इन जगहों पर पड़ने वाला कालापन दूर होता है।
  • इसकी पत्तियों का सेवन करने से पेट में कब्ज की समस्या से राहत मिलती है।
  • गुलाबजल में एलोवेरा का रस मिलाकर त्वचा पर लगाने से त्वचा की नमी लौटती है।
  • एलोवेरा के गूदे में मुलतानी मिट्टी या चंदन पावडर मिलाकर लगाने से त्वचा के कील-मुंहासे आदि लंबे समय के लिए मिट जाते हैं।
  • यह पौधा कम पानी और कम उर्वरक मिट्टी में भी आसानी से पनप सकता है, इसलिए आप इसे बड़ी आसानी से ही अपने घर में छोटे गमलों में लगा सकते हैं।
  • यह जलने कटने के घावों पर मरहम की तरह काम करने के साथ साथ उनके निशानों पर भी काम करता है।

Categories
Ayurveda Health

Benefits of Dates

Dates are delicious and full of nutritious. It grow on the date palm tree.

They’re widely consumed around the world and hold high value in many cultures.

Dates are having high fiber and sugar content.

Dates Nutrition Information

Dates are highly nutritious. Though fresh dates are edible, dates are most often consumed dried and easily identified by their dry skin.

A 100 gm serving of dates provides:

  • Calories: 282
  • Protein: 2.5 grams
  • Carbs: 75 grams
  • Fiber: 8 grams
  • Sugar: 64 grams
  • Calcium: 3% of the Daily Value (DV)
  • Iron: 6% of the DV
  • Potassium: 14% of the DV
  • Magnesium: 10% of the DV
  • Copper: 23% of the DV
  • Selenium: 6% of the DV
  • Vitamin B6: 10% of the DV
  • Folate: 6% of the DV

Dates are typically dried and small. This makes eating multiple dates very doable. It’s easy to eat large quantities of calories, fiber, and natural sugar in one sitting. Therefore, be sure to eat dates in moderation.

Categories
Ayurveda Health

Treating Cold – Home Remedy

Chicken soup is a great choice when you’re sick with cold. Chicken soup with vegetables, prepared from scratch or warmed from a can, can give you relief from cold. The study found that chicken soup was effective for reducing the symptoms of cold. It also carries great nutritional value and helps keep you hydrated. It’s a good choice, no matter how you’re feeling.

Ginger has many health benefits, We have scientific proof of its curative properties. A few slices of raw ginger root in boiling water will reduce your cold. Research suggests that it can also ward off the feelings of nausea.

Honey has antibacterial and antimicrobial properties. Honey in tea with lemon can give relief in sore throat pain. Honey is an effective cough suppressant. Giving children 10 grams of honey at bedtime reduced the severity of their cough. The children reportedly slept more , which also helps reduce cold and its symptoms.

We should never give honey to a child younger than 1 year old. While they’re usually harmless to older children and adults.

Garlic contains the allicin, which have antimicrobial properties. Adding a garlic supplement to your diet reduce the severity of cold symptoms. It might even help you avoid getting sick in the first place.

Adding more garlic to your diet probably won’t hurt.

Vitamin C plays an important role and has many health benefits. Along with limes, oranges, grapefruits, leafy greens, and other fruits and vegetables, lemons are a good source of vitamin C. Fresh lemon juice to hot tea with honey may reduce cold symptoms. Drinking hot or cold lemonade may also help.

These drinks may not clear up your cold entirely, they can help you get the vitamin C that your immune system needs.

Categories
Ayurveda Health

केले के फूल का घरेलू और आयुर्वेदिक उपयोग

जैसा की हम सब जानते हैं की केले के पेड़ का हमारे जिंदगी में कितना महत्व है. हम केले का फल का कच्चे और पक्के रूप में उपयोग करते हैं। केले में बहुत सारी खूबियां होती हैं जिसकी वजह से हर उम्र के लोगो के लिए फायदेमंद है। आज हम आपको केले का एक नया उपयोग बताएँगे।

कई बार खेलते समय बच्चो और बड़ो को चोट लग जाया करती है। ज्यादातर बच्चो को खेलते समय कई बार अंदुरनी चोट लग जाती है। इसमें से सबसे दर्दनाक होता है अंडकोष पर चोट लगना जोकि ज्यादातर क्रिकेट या बॉल से जुड़े हुए खेल में होता है। कई बार चोट लगी जगह पर सूजन आ जाती है और बच्चे घर में ये बात नहीं बताते. बड़े भी कई बार इस तरह के चोट को नार्मल लेते है और कोई इलाज नहीं करते। ऐसे समय में इस घरेलु और आयुर्वेदिक उपचार का प्रयोग कर सकते हैं। इस प्रयोग का कोई भी साइड इफ़ेक्ट नहीं है और आपको बहुत जल्दी फायदा होता है। इसमें केले के फूल का प्रयोग किया जाता है। केले का फूल आपको बहुत आसानी से मिल जायेगा. आपके आस पास जहाँ भी लगा हो उसमे से केले के फूल का एक परत निकल कर ले आइये।

उपयोग में लाने का तरीका
1. पहले केले के फूल की एक परत लें
2. उसके बाद उसे धीमी आंच पर हल्का सेक लें
3. ध्यान रखें की सेंकते समय जैसे ही फूल की परत में नमी आ जाएं उसे हटा लें
फिर उस पर हल्का गुनगुना देसी घी लगा लें
4. अब इस फूल को चोट वाली जगह पर लगाकर बांध लें
5. 3-4 घंटे में आपकी चोट पर सूजन बिलकुल कम हो जायेगा
6. जरुरत पड़े तो एक और फूल की परत का प्रयोग दुबारा करें

ज्यादातर समय ये एक बार में ही ठीक कर देता है।
नोट: ध्यान रहे की खुली चोट पर इसे प्रयोग न करें

और किसी जानकारी के लिए आप संपर्क कर सकते हैं।